सदन के शुरू होते ही लोकसभा में कांग्रेस और TMC के सदस्यों का हंगामा

0
17

नयी दिल्ली। लोकसभा में आज प्रश्नकाल के दौरान कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस के सदस्यों ने विभिन्न मुद्दों को लेकर करीब 10 मिनट तक नारेबाजी की और लोकसभा अध्यक्ष के आग्रह पर विपक्षी सदस्य शांत हुए और फिर प्रश्नकाल की कार्यवाही पूरी हुई । आज सुबह प्रश्नकाल शुरू होने पर लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने आंध्र प्रदेश से 11वीं लोकसभा में सदस्य रहे सैदैया कोटा के निधन की जानकारी दी।

उन्होंने पिछले दिनों महाराष्ट्र के रायगढ़ में बस के खाई में गिर जाने से 33 लोगों की मौत की दुखद घटना का भी उल्लेख किया। सदस्यों ने कुछ पल मौन रखकर दिवंगत सदस्य और महाराष्ट्र के हादसे में मृत लोगों को श्रद्धांजलि दी। इसके बाद जब स्पीकर ने प्रश्नकाल शुरू करने का निर्देश दिया तो कांग्रेस के मल्लिकार्जुन खड़गे दलितों के संबंध में विषय उठाने लगे।

उधर तृणमूल कांग्रेस के सौगत राय असम में एनआरसी के मुद्दे पर बोलना चाह रहे थे। खड़गे ने कहा कि जब सरकार छह अध्यादेश ला सकती है तो इस विषय (दलितों के मुद्दे) पर सातवां अध्यादेश क्यों नहीं ला सकती। अध्यक्ष महाजन ने उन्हें प्रश्नकाल पूरा होने के बाद बोलने को कहा। कांग्रेस के सदस्य नारेबाजी करते हुए आसन के समीप आ गये। तृणमूल कांग्रेस के सदस्य भी एनआरसी के मुद्दे पर आसन के समीप आकर नारे लगाने लगे।

पिछले कई दिन से प्रश्नकाल में आंध्र प्रदेश के विषय पर खड़े होकर विरोध जता रहे तेलुगूदेशम पार्टी के सदस्य भी आगे आकर अपना मुद्दा उठाने लगे। स्पीकर ने कहा कि उन्होंने खड़गे और राय दोनों को प्रश्नकाल पूरा होने के बाद बोलने की अनुमति देने को कहा है। कोई भी विषय उठाने को मना नहीं किया।

उन्होंने कहा कि एससी-एसटी से जुड़ा विषय हो या अन्य कोई भी विषय हो, वह बोलने के लिए मना नहीं कर रहीं। लेकिन प्रश्नकाल के बाद ही अनुमति देंगी। लोकसभाध्यक्ष के आग्रह के बाद सभी विपक्षी सदस्य अपने स्थानों पर चले गये और करीब 10 मिनट के हंगामे के बाद सदन में प्रश्नकाल यथावत चल सका।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here