विंग कमांडर अभिनंदन की रिहाई के लिए खुद लाहौर पहुँचे थे इमरान खान

0
1001

लाहौर। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान शुक्रवार को वाघा सीमा पर भारतीय वायु सेना के पायलट अभिनंदन को भारत को सौंपने की प्रक्रिया को ‘सुचारू’ बनाने के लिये लाहौर में मौजूद थे। आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी। खान शुक्रवार दोपहर भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन को इस्लामाबाद से वाघा बॉर्डर लाये जाने से कुछ घंटे पहले कड़ी सुरक्षा के बीच लाहौर पहुंचे। एक आधिकारिक सूत्र ने बताया, “प्रधानमंत्री खान का शहर में रहने का मुख्य उद्देश्य भारतीय पायलट को सीमा सुरक्षा बल को सौंपने की प्रक्रिया को “सुचारू” बनाना था।”

उधर, भारतीय वायुसेना के पायलट अभिनंदन वर्धमान करीब तीन दिनों तक पाकिस्तानी कैद में रहने के बाद पड़ोसी देश द्वारा भारत को सौंपे जाने के कुछ घंटों बाद शुक्रवार रात राजधानी दिल्ली पहुंचे। लोगों के एक समूह ने पालम हवाई अड्डे पर उनका शानदार स्वागत किया। वहां से अभिनंदन को जांच के लिए एक अस्पताल ले जाया जाएगा। उन्हें शुक्रवार शाम को अटारी-वाघा सीमा पर भारतीय अधिकारियों को सौंपा गया था। वर्धमान को 27 फरवरी को दोनों देशों के विमानों के बीच हवाई संघर्ष होने पर उनके मिग 21 विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद पाकिस्तान द्वारा पकड़ लिया गया था। वह लगभग तीन दिन तक पाकिस्तान की कैद में रहने के बाद स्वदेश लौटे हैं। यह दोनों देशों के बीच तनाव की स्थिति को कम करने की दिशा में एक बड़ा कदम है जो कि आतंकवाद के खिलाफ पाकिस्तान के निरंतर समर्थन पर भारत की जवाबी कार्रवाई के चलते उत्पन्न हुए थे।

विंग कमांडर अभिनंदन रात 9 बजकर 10 मिनट पर पाकिस्तान की ओर वाघा चेकपोस्ट पर दिखे और उनके साथ पाकिस्तानी रेंजर, इस्लामाबाद में उच्चायोग में भारतीय एयर अताशे मौजूद थे। वे गहरे रंग का कोट और खाकी रंग की पैंट पहने हुए थे। गर्व से सिर ऊंचा किये विंग कमांडर अभिनंदन ने पाकिस्तान से गेट पार करके भारत में प्रवेश किया। अमृतसर के उपायुक्त शिव दुलार सिंह ढिल्लों ने संवाददाताओं से कहा कि बहादुर पायलट अपने देश लौटकर खुश हैं। वर्धमान को शनिवार को ‘डीब्रिफिंग’ से गुजरना होगा जिसमें सेना और गुप्तचर एजेंसियों के अधिकारियों की मौजूदगी में उनकी शारीरिक जांच भी शामिल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here