भारत ने आखिरी गेंद पर बांग्लादेश को हराकर 7वीं बार Asia Cup जीता

0
60

दुबई। कुलदीप यादव और केदार जाधव की शानदार गेंदबाजी के बाद आखिरी ओवरों में संयमित बल्लेबाजी के दम पर भारत ने आज बेहद रोमांचक मुकाबले में आखिरी गेंद पर बांग्लादेश को तीन विकेट से हराकर सातवीं बार एशिया कप जीत लिया। जीत के लिये 223 रन के लक्ष्य के जवाब में भारत को आखिरी दो ओवर में नौ रन चाहिये थे लेकिन 49वें ओवर में तीन ही रन बने जिसके बाद आखिरी छह गेंद में छह रन की जरूरत थी। महमूदुल्लाह के इस ओवर की पहली गेंद पर कुलदीप यादव ने एक और दूसरी पर केदार जाधव ने एक रन लिया। तीसरी गेंद पर कुलदीप ने दो रन लिये लेकिन अगली गेंद पर रन नहीं बन सका ।

इसके बाद पांचवीं और छठी गेंद पर एक एक रन लेकर कुलदीप और केदार ने भारत को जबर्दस्त जुझारूपन का प्रदर्शन करने वाली बांग्लादेशी टीम पर जीत दिलाई। इससे पहले कुलदीप और केदार की स्पिन जोड़ी ने लिटन दास के शतक के बावजूद बांग्लादेश को 222 रन पर समेट दिया था।
भारत के लिये कप्तान रोहित शर्मा ने 55 गेंद में तीन चौकों और तीन छक्कों के साथ 48 रन बनाये। दिनेश कार्तिक ने 37 और महेंद्र सिंह धोनी ने 36 रन का योगदान दिया। चोट लगने के कारण कुछ देर मैदान छोड़कर जाने वाले केदार ने नाबाद 23 रन बनाये। इससे पहले खिलाड़ियों की चोट से जूझ रही बांग्लादेशी टीम ने अच्छा आगाज किया। दास ने 117 गेंद में 121 रन बनाकर बांग्लादेश को अच्छी शुरूआत दी लेकिन बाद के बल्लेबाज लय कायम नहीं रख सके।
दास और मेहदी हसन मिराज (32) ने पहले विकेट के लिये 120 रन जोड़े। ऐसा लगने लगा था कि बांग्लादेश बड़ा स्कोर बनायेगा लेकिन इसके बाद 10 विकेट 102 रन के भीतर गिर गए और पूरी पारी 48.3 ओवर में सिमट गई। चाइनामैन कुलदीप ने 45 रन देकर तीन विकेट लिये जबकि केदार ने नौ ओवर में 41 रन देकर दो विकेट चटकाये। बांग्लादेशी टीम गैर जिम्मेदाराना शाट खेलकर विकेट गंवाती गई।
महेंद्र सिंह धोनी की कुशल स्टम्पिंग और रविंद्र जडेजा के चुस्त क्षेत्ररक्षण ने भी भारतीय टीम की मैच में वापसी कराई। मिराज को सलामी बल्लेबाज के तौर पर भेजना कप्तान मशरेफी मुर्तजा का मास्टरस्ट्रोक साबित हुआ। मिराज ने दास के साझेदार की भूमिका बखूबी निभाकर टीम को अच्छी शुरूआत दी। दोनों ने जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार को चौके लगाये। युजवेंद्र चहल को आते ही मिडविकेट पर छक्का लगाया। भारत को पहली सफलता केदार ने 21वें ओवर में दिलाई जब मिराज उनकी गेंद पर कवर में अंबाती रायुडू को कैच दे बैठे।
इमरूल कायेस (दो) को चहल ने पगबाधा आउट किया। फार्म में चल रहे मुशफिकर रहीम (दो) ने केदार की गेंद पर डीप मिडविकेट में कैच थमाया। एक समय पर बिना किसी नुकसान के 120 रन से बांग्लादेश का स्कोर तीन विकेट पर 137 रन हो गया। मोहम्मद मिथुन (दो) आउट होने वाले अगले बल्लेबाज थे। जडेजा ने बेहतरीन क्षेत्ररक्षण का नमूना पेश करते हुए उन्हें रन आउट किया। महमूदुल्लह ने कुलदीप की गेंद पर डीप मिडविकेट में बुमराह को कैच थमाया। दास ने अपनी पारी में 12 चौके और दो छक्के लगाये और वह स्टम्पिंग का शिकार हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here