कपड़ा व्यपारी के हत्याकांड से फिर थर्राई राजधानी।- कैनविज टाइम्स

0
93

कपड़ा व्यपारी के हत्याकांड से फिर थर्राई राजधानी।- कैनविज टाइम्स

लखनऊ। ( वहाब उद्दीन सिद्दीक़ी ) राजधानी एक बार फिर से उस वक़्त थर्रा गयी जब पुलिस के डर से बेख़ौफ़ बदमाशों ने खुलेआम एक कपड़ा व्यपारी को गोलियों से भून डाला और आराम से मौके से फ़रार हो गए घटना के बाद इलाके में दहशत फैल गयी। घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने व्यापारी को इलाज के लिए लोकबंधु अस्पताल पहुंचाया जहां उसकी हालत गंभीर देखते हुए डॉक्टरों ने उसे तुरन्त ही ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया।

वहीं बताया गया कि ट्रामा में व्यापारी ने इलाज के दौरान दमतोड़ दिया। वहीं पुलिस इस घटना को पुरानी रंजिश मानकर आरोपियों की तलाश कर रही है और जिन आरोपियों के नाम प्रकाश में आये हैं उनके हर संभव स्थानों पर लगातार दबिश दी जा रही है। पूरा मामला आलमबाग थाना क्षेत्र के चंदन नगर का है जहां बेखौफ बदमाशों ने परमजीत सिंह के 35 वर्षीय बेटे अमनप्रीत को उस समय गोली मार दी जब वो अपनी कपड़े की दुकान बन्द कर के बुलेट मोटरसाइकिल से अपने घर जा रहे थे।

बताया जा रहा है कि दो बदमाश पैदल ही आये और और व्यपारी अमनप्रीत को गोली मार दी वहीं गोली लगते ही अमनप्रीत लहू लुहान हो कर वही गिर पड़े और बेख़ौफ़ बदमाश घटना को अंजाम देने के बाद मौके से पैदल ही भाग निकले। जिसकी सूचना तुरन्त ही आस-पास के दुकानदारों ने पुलिस को दी साथ ही अमनप्रीत को इलाज के लिए लोकबंधु अस्पताल पहुंचाया जहां उसकी हालत गंभीर देखते हुए डॉक्टरों ने उसे ट्रामा सेंटर के लिए रेफर कर दिया। वहीं इलाज के दौरान अमनप्रीत ने दम तोड़ दिया जिसके बाद उसके परिवार में रोना पीटना मच गया।

(मृतक फ़ाइल फ़ोटो)

 

हत्या की वजह पुरानी रंजिश बताई जा रही है। साथ ही रुपए के लेनदेन को लेकर पुलिस पाली, सोनू और राजू सरदार नामक आरोपियों की सरगर्मी से तलाश कर रही है।
वहीं अगर सूत्रों की मानें तो कपड़ा व्यापारी अमनप्रीत आलमबाग इलाके की पुलिस का खास कारिंदा था। जिसके द्वारा पारा में शराब पकड़ी गई थी और सरोजनीनगर में बीते साल हुई शराब व्यापारी विनोद सिंह की हत्या से भी अमनप्रीत की हत्या के तार जुड़े होने का अंदेशा लगाया जा रहा है। अमनप्रीत की हत्या की घटना के बाद से आईजी रेंज एस.के.भगत ने अपराधियों की धर पकड़ के लिए आलमबाग में डेरा डाल दिया है। साथ ही घटना के बाद एसएसपी कलानिधि सहित आईजी लखनऊ समेत कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई। पुलिस हत्यारों को पकड़ने के लिए जगह-जगह उनके मिलने के ठिकानों पर दबिश दे रही है।

वहीं एसपी पूर्वी सर्वेश कुमार का कहना है कि अमनप्रीत की हत्या पुरानी रंजिश और रुपयों के लेनदेन को लेकर हुई है। साथ ही बताया कि हत्या को उस वक्त अंजाम दिया गया है जब मृतक दुकान बंद कर घर जाने की तैयारी कर रहा था। नौकरों से पूछताछ में जो बात सामने आई है उसके मुताबिक हमलावर दो थे। वहीं उनका कहना है कि कुछ लोगों के नाम चिन्हित किये गए है और उनको हिरासत में लेकर पूछताछ भी की जाएगी। फिलहाल मृतक के परिजनों की तरफ से जो भी तहरीत मिलेगी उसके हिसाब से ही मामला दर्ज किया जाएगा।ख़बर लिखे जाने तक पुलिस को मृतक के पिता द्वारा सिर्फ़ राजू कालिया सरदार को हत्या का जिम्मेदार बताते हुए उसके ख़िलाफ़ तहरीर दी गयी है पुलिस ने राजू कालिया सरदार के खिलाफ धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here