स्मृति ईरानी ने कपिल सिब्बल पर लगाया घोटाले का आरोप, यूं मिला जवाब

0
21

नई दिल्ली। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री कपिल सिब्बल पर बीजेपी ने जमीन घोटाले का आरोप लगाया है। केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि कपिल सिब्बल ने यूपीए सरकार में कानून मंत्री के पद पर रहते हुए मनी लॉन्ड्रिंग के एक आरोपी से करोड़ों की जमीन बेहद सस्ते दामों में खरीदी थी। स्मृति ईरानी के आरोपों पर सिब्बल ने भी करारा तंज कसा है।

यह है आरोप का आधार

ईरानी ने सिब्बल पर यह आरोप एक भारतीय और एक दक्षिण अफ्रीकी न्यूज वेबसाइट की रिपोर्ट का हवाला देते हुए लगाया है। उन्होंने बताया कि नवंबर 2013 में समाचार एजेंसी पीटीआई और बिजनेस टुडे पत्रिका में सीबीआइ के केस के संदर्भ में खबर प्रकाशित हुई थी। इसके मुताबिक सीबीआइ रिश्वतखोरी के आरोपी एसबीआइ एक अधिकारी के खिलाफ जांच कर रही थी। जिस शख्स का नाम प्रकाशित हुआ वो वर्ल्ड ग्रुप के चेयरपर्सन पीयूष गोयल थे। सिब्बल पर इसी आरोपी से जमीन खरीदने का आरोप लगा है।

सिब्बल पर पत्रकारों से तथ्य छिपाने का भी आरोप

ईरानी ने दक्षिण अफ्रीकी वेबसाइट की रिपोर्ट का हवाला देते हुए यह भी कहा कि पत्रकार ने जब सिब्बल से इस बारे में सवाल किया तो उन्होंने उक्त कंपनी या शख्स से किसी भी तरह का संबंध होने से साफ इनकार कर दिया। ईरानी ने सवाल किया कि सिब्बल को दक्षिण अफ्रीकी वेबसाइट से तथ्य छिपाने की क्या जरूरत थी।

सिब्बल का बहाना राहुल पर निशाना

ईरानी ने कपिल सिब्बल के बहाने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को भी निशाने पर लिया। स्मृति ने पूछा कि क्या इस तरह की डील राहुल गांधी को स्वीकार है। उन्होंने पूरे मामले में राहुल गांधी से भी अपना पक्ष रखने को कहा है। स्मृति के इस आरोप के बाद केंद्र में सियासत गर्मा गई है।

पलटवार में सिब्बल ने कसे तंज

कपिल सिब्बल ने पलटवार करते हुए कहा कि उन्हें सीबीआई पेपर लीक मामले की कोई चिंता नहीं है। उन्होंने कहा कि उन्हें ऐसे आरोप लगाने के बजाए बच्चों के भविष्य की चिंता करनी चाहिए। सिब्बल ने तंज कसते हुए कहा कि आधार की जानकारी लीक हो रही है, पेपर लीक हो रहे हैं लेकिन कुछ लोगों की डिग्री की जानकारी लीक नहीं हो रही है। सिब्बल ने यह भी कहा कि स्मृति को मनी लॉन्ड्रिंग की परिभाषा भी पता नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here