केजीएमयू में पीएफटी स्पाइरोमेट्री कार्यशाला का आयोजन- कैनविज टाइम्स

0
1274

केजीएमयू में पीएफटी स्पाइरोमेट्री कार्यशाला का आयोजन- कैनविज टाइम्स

 

रिपोर्टर:- वहाब उद्दीन सिद्दीक़ी

लखनऊ। राजधानी के किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के रेस्पाइरेट्री मेडिसिन विभाग में दो दिवसीय पल्मोनरी फंक्शन टेस्ट ( पी एफ टी ) स्पाइरोमेट्री की कार्यशाला का शुभारंभ किया गया। इस कार्यक्रम का उद्घाटन करते हुए रेस्पाइरेट्री मेडिसिन विभाग के विभागध्यक्ष प्रोफेसर डॉ. सूर्यकान्त ने बताया कि हमारे देश मे 3 करोड़ अस्थमा के मरीज़ हैं तथा 3 करोड़ सीओपीडी के मरीज़ हैं। डॉ. सूर्यकान्त ने आगे बताया कि अध्ययन से पता चलता है कि लगभग आधे से ज़्यादा सांस के मरीज़ों की प्रामाणिक जाँच ही नही ही पाती है। जिससे उनकी बीमारी का पता ही नही चल पाता है। साँस के मरीज़ों की जाँच स्पाइरोमेट्री से होती है। इन्डियन कॉलेज ऑफ़ एलर्जी एंव अस्थमा के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रोफेसर सूर्यकान्त ने आगे बताया की एक्सरे टेक्नीशियन और ओटी टेक्नीशियन एंव अन्य टेक्नीशियन कोर्स सामान्यतः विभिन्न चिकित्सा संस्थानों में होते हैं किन्तु स्पाइरोमेट्री का टेक्नीशियन प्रशिक्षण ज़्यादा जगहों पर नही होता है इसी उद्देश्य की पूर्ति हेतु इन्डियन चेस्ट सोसाइटी के द्वारा 10 प्रशिक्षण केन्द्रों पर स्पाइरोमेट्री टेक्नीशियन की ट्रेनिंग दी जाती है। रेस्पाइरेट्री मेडिसिन विभाग, केजीएमयू इनमे से एक है। इस कार्यक्रम में आये हुए सभी प्रतिभागियों के स्वागत केजीएमयू के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. अजय कुमार वर्मा ने किया। वही केजीएमयू के फिजियोलोजी विभाग के प्रोफेसर संदीप भटाचार्य ने श्वासन तन्त्र प्राणली और सांस लेने की क्रिया के बारे में बताया। वहीं ऐरा मेडिकल कॉलेज के प्रोफेसर पी.के शर्मा ने भी फेफड़ों के बारे में विस्तृत जानकारी दी। इस मौके पर प्रोफेसर एस के वर्मा, प्रोफेसर राजीव गर्ग, डॉ. आनन्द श्रीवास्तव, डॉ.दर्शन कुमार बजाज, आदि उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here