आरक्षण पर बसपा सुप्रीमो का बड़ा बयान, कर्जमाफी पर कांग्रेस को दी नसीहत

0
919

लखनऊ – लोकसभा चुनाव 2019 की आहट के बीच बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने लखनऊ में आज अपना 63वां जन्मदिन मनाया। इस मौके पर उन्होंने मीडिया को भी संबोधित किया। मायावती ने भाजपा के साथ ही कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। आज अधिक समय तक उनके निशाने पर कांग्रेस ही रही। उन्होंने कहा कि देश में सबसे अधिक समय तक राज करने वाली कांग्रेस एंड कंपनी को भी सबक सिखाने की जरूरत है। मायावती ने कहा कि देश की आजादी के बाद कांग्रेस और भाजपा की सरकार के राज में जमकर भ्रष्टाचार हुआ।

किसान, गरीब, दलित व अन्य पिछड़े वर्ग का सही से विकास नहीं हुआ, जिससे दुखी होकर ही हमें इनके हितों के लिए पार्टी बनानी पड़ी थी। आज देश में किसान, दलित और पिछड़ा वर्ग के लोग सबसे ज्यादा दुखी है। इसकी एक वजह केंद्र सरकार है। अब आम जनता कांग्रेस के बाद भाजपा को सत्ता से हटाने का मन बना चुकी है। मायावती ने कहा कांग्रेस एडं कंपनी को सबक सिखाने की जरूरत है। अब जुमलेबाजों की दाल गलने वाली नही है। उन्होंने अपनी सरकार बनाने का आह्वान किया।

बसपा प्रमुख मायावती ने आज अपने जन्मदिन पर भाजपा व कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। सामान्य वर्ग के गरीबों को दस फीसद आरक्षण पर मायावती ने कहा कि मुसलमानों को भी आर्थिक आधार पर आरक्षण मिलना चाहिए। उन्होंने जहां अखिलेश यादव के खिलाफ सीबीआई जांच को गलत बताया। वहीं कर्ज माफी के मुद्दे पर कांग्रेस को नसीहत दी। राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश की सरकारों पर उंगली उठनी शुरू हो गई है।  किसानों की कर्जमाफी के लिए एक राष्ट्रनीति बनाने की जरूरत।

मायावती ने कहा कि कांग्रेस के खराब शासन बानगी एक महीने में ही सामने आने लगी। मध्य प्रदेश के साथ छत्तीसगढ़ व राजस्थान में जनता काफी परेशान है। भाजपा को भी समझ लेना चाहिए कि झूठे वादे और जुमलेबाजी से किसान व दलित विरोधी सरकार की दाल ज्यादा दिन तक गलने वाली नहीं है। यही वजह है कि कांग्रेस की तीन राज्यों में बनी सरकार पर भी सवाल खड़े होने लगे हैं। चाहे बात किसान के कर्ज माफी की हो या फिर दलितों को फायदा देने की सरकार पर सवाल पूछे जाने लगे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here