अजित सिंह सक्रिय राजनीति से दूर, कहा-नहीं लड़ेंगे लोकसभा चुनाव

0
23

राष्ट्रीय लोकदल के मुखिया तथा पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी अजित सिंह ने सक्रिय राजनीति से दूर होने का संकेत दिया है। माना जा रहा है कि अब वह किंगमेकर की भूमिका में रहेंगे। बागपत में आज राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह ने मीडिया को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि अब वह लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। बागपत को उनका गढ़ माना जाता था। पिछला चुनाव हारने के बाद व्यथित अजित सिंह ने कहा कि उनकी पार्टी का भारतीय जनता पार्टी से गठबंधन का सवाल ही पैदा नहीं होता। कैराना लोकसभा उप चुनाव में उनकी पार्टी की प्रत्याशी को समाजवादी पार्टी से समर्थन मिला था।

भाजपा की मृगांका सिंह को शिकस्त देकर राष्ट्रीय लोकदल की तब्बसुम हसन ने चुनाव जीता था। अजित सिंह ने कहा कि राष्ट्रीय लोकदल अब भी भाजपा के खिलाफ बन रहे महागठबंधन के साथ मिलकर 2019 का लोकसभा चुनाव लड़ेगी। वह कहीं से भी पार्टी के प्रत्याशी नहीं रहेंगे।

बागपत में पार्टी की चुनाव समीक्षा बैठक में पहुंचे अजित सिंह ने कहा कि अब 80 वर्ष का हूं। 2019 का लोकसभा चुनाव नहीं लडूंगा। मीडिया से बातचीत में अजीत सिंह ने महागठबंधन को समय की जरूरत भी बताया। उन्होंने कहा कि महागठबंधन के तहत 2019 का चुनाव लडऩा हर दल की मजबूरी है। अगर अगला लोकसभा चुनाव कोई दल अकेला लड़ता है तो वह समाप्त हो जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here