जल्द पुरानी बात हो जाएंगे मोबाइल चार्जर, अब इस तकनीक से चार्ज होंगे फोन

0
20

साउथ कोरिया की मोबाइल फोन बनाने वाली कंपनी सैमसंग अपने स्मार्टफोन्स में समय के अनुसार नई टेक्नोलॉजी और फीचर्स पेश करती रहती है। इस कंपनी ने अपने गैलेक्सी नोट 9 में ओवर द एयर (OTA) वायरलेस चार्जिंग लेकर आ सकती है। कंपनी ने 2016 पेटेंट के लिए इस तकनीक को रजिस्टर किया था।

OTA वायरलेस चार्जिंग अभी मौजूद वायरलेस चार्जिंग से काफी अलग तरीके से काम करता है। अभी मौजूद वायरलेस चार्जिंग टेक्नोलॉजी में स्मार्टफोन को चार्ज करने के लिए चार्जिंग पैड सरफेस का फोन से टच होना आवश्यक है, लेकिन OTA वायरलैस चार्जिंग टेक्नोलॉजी के अंतर्गत फोन तभी चार्ज होना शुरू हो जाएगा जब वह रेंज में आ जाएगा। इसके लिए स्मार्टफोन अथवा यह तकनीक वाली किसी भी डिवाइस को किसी अन्य चार्जिंग डिवाइस से टच होने की जरूरत नहीं।

ओटीए तकनीक में कोई स्मार्टफोन तब भी चार्ज किया जा सकेगा जब डिवाइस जेब में पड़ी हो या अन्य कहीं ओर रखी हों। OTA टेक्नोलॉजी वाली डिवाइस ऐसी एल्गोरिथ्म का प्रयोग करेगी जो OTA चार्जिंग इनेबल कमरे में डिवाइस की एनर्जी पर करती है।

इस टेक्नोलॉजी से डिवाइस को तब भी चार्ज किया जा सकेगा जब वह मूव कर रही हो। आने वाले समय में यह बहुत बड़ी टेक्नोलॉजी होने वाली है। इससे स्मार्टफोन्स को इस्तेमाल और चार्ज करने का तरीका बदल जाएगा। वायर चैजिंग से OTA वायरलेस चार्जिंग पर जाना उतना ही बड़ा बदलाव होगा, जितना लैंडलाइन से वायरलेस फोन्स का रहा था। हालांकि इस टेक्नोलॉजी को आने में अभी 3-4 साल लग सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here