मिलिए शहर के युवा डायरेक्टर्स से, सोशल मीडिया-यूट्यूब पर धमाल मचा रहे इनके वीडियो

0
27

रचनात्मकता संसाधनों की मोहताज नहीं होती। अगर आपमें लगन है तो राह निकल ही आती है। शहर के चंद युवाओं ने इस बात को सच कर दिखाया है। शॉर्ट फिल्म या डॉक्यूमेंट्री बनाने वाले कई ऐसे युवा हैं, जो एक्िटग से लेकर डायरेक्शन और एडिटिंग भी वो खुद ही कर रहे हैं। खास बात यह है कि बेहद सीमित संसाधन और कम बजट में विषय आधारित बनाए जा रहे ऐसे वीडियो व फिल्में यूट्यूब और सोशल मीडिया पर धमाल मचा रहे हैं।

सुधाशु सिंह, यशस्वी माथुर और सूरज वर्मा अभी लखनऊ विश्वविद्यालय से पीजी कर रहे हैं, साथ ही साथ शॉर्ट फिल्मों का निर्देशन कर रहे हैं। इन छात्रों ने अब तक आधा दर्जन से अधिक शॉर्ट फिल्मों की शूटिंग की है। खास बात यह है कि उनकी फिल्मों को दूरदर्शन ने प्रसारित करने का भरोसा भी दिया है। छात्रों ने बताया कि पहले विभाग की लैब में मोबाइल से विजुअल लेने लगे। फिर साथियों से सुझाव कर शूटिंग शुरू की। इसी बीच एक साथी ने कैमरा भी अरेंज किया। इसके बाद नाइंटीन चाइल्डहुड पहली शॉर्ट फिल्म बनाई। अब कालरात्रि की शूटिंग पूरी कर चुके हैं। इसकी एडिटिंग जारी है। इनमें विषय के मुताबिक कलाकार चुन लेते हैं। सच बोल तक पहुंचा निर्देशन का सफर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here