15 को 60 देशों के राजनयिक प्रयागराज के कुंभ की देखेंगे तैयारी

संगम नोज पर किया गया भव्य स्वागत का इंतजाम

0
70
15 को 60 देशों के राजनयिक प्रयागराज के कुंभ की देखेंगे तैयारी

प्रयागराज (कैनविज टाइम्स ब्यूरो) – कुम्भ की विदेशों में जोरशोर से ब्रांडिग की जा रही है। कुम्भ की भव्यता, धार्मिक महत्व और भारतीय संस्कृति से विदेशियों को परिचित कराने के लिए 15 दिसंबर को करीब 60 देशों के राजनयिकों को लेकर विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिह प्रयागराज आ रहे हैं। संगम नोज पर विभिन्न देशों के राजनयिकों की भव्य स्वागत का इंतजाम किया जा रहा है। वहां पर एक फ्लैग एरिया बनाया जा रहा हैं जहां सभी देशों के झंडे एक साथ लहराएंगे। वीवीआईपी के आने से पूर्व पुख्ता सुरक्षा इंतजाम किया गया है। कुम्भ में 192 देशों के राजनयिकों को बुलावा भेजा गया है।

मेले में विभिन्न देशों के प्रतिनिधि आएंगे। जनवरी 2019 में प्रवासी भारतीयों का दल भी आएगा। इससे पूर्व कुम्भ की ब्रांडिग और प्रचार-प्रसार के लिए इन राजनयिकों को कुम्भनगरी के भ्रमण पर 15 दिसंबर को विदेश राज्य मंत्री लेकर आएंगे। ऐसा पहली बार होगा कि एक साथ सभी देशों के झंडे संगम क्षेत्र में लहराएंगे। सूत्रों की मानें तो मेहमानों की अगवानी को संगम क्षेत्र में संस्कृतिक कार्यक्रम भी होंगे। पर्यटन अधिकारी अनुपम श्रीवास्तव ने बताया कि बैठक में 15 दिसंबर को विभिन्न देशों के राजनयिक के आने की बात हुई है लेकिन अभी तक प्रोटोकॉल नहीं आया है।

आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया कि सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए जा रहे हैं। एयरपोर्ट से ही स्कॉट मेहमानों के साथ चलेगी। ब्लैक कैट कमांडो गाड़ियों में रहेंगे। करीब 2००० पुलिसकर्मियों को सुरक्षा के साथ यातायात प्रबंधन में लगाया जा रहा है। एयरपोर्ट से लेकर संगम क्षेत्र तक निगहबानी के लिए आसपास के घरों पर भी पुलिस का पहरा होगा। छतों पर पुलिस के अलावा स्नाइपर तैनात रहेंगे। संगम क्षेत्र में भी एटीएस के कमांडो गश्त करेंगे। एलआईयू और आईबी मुस्तैद रहेगी। जल पुलिस को भी अलर्ट किया गया है। नाव और स्टीमर पर कमांडो मौजूद रहेंगे।

कुम्भ में भीड़ नियंत्रण के लिए लगाये जायेंगे सेंसरयुक्त कैमरे

कुम्भ में भीड़ का पल-पल आकलन होगा। मेला क्षेत्र में बने इंटीग्रेटेड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर से जुड़े कैमरे संगम तट पर भीड़ की निगरानी करेंगे। भीड़ अधिक बढ़ने पर कैमरे कमांड एंड कंट्रोल सेंटर को संकेत भेजेंगे। संकेत मिलने के बाद मेला प्रशासन और पुलिस भीड़ नियंत्रण की अतिरिक्त व्यवस्था करेगी। कुम्भ मेला क्षेत्र में लग रहे हाईटेक कैमरे सेंसरयुक्त हैं। सेंसर ही मेला क्षेत्र के महत्वपूर्ण बिदुओं पर 24 घंटे भीड़ का आकलन करेगा। मेला में एक वर्ग मीटर में पांच लोगों का मानक तय किया गया है। ये कैमरे एक वर्ग मीटर में पांच से अधिक लोगों के होने पर अलर्ट भेजना शुरू कर देंगे। कुम्भ और स्मार्ट सिटी के तहत शहर के चौराहों पर हाईटेक सिग्नल लगाए जा रहे हैं।

चौराहों पर लग रहे सिग्नलों की टाइमिग वाहनों की भीड़ के आधार पर बदलेगी। चौराहों पर लग रहे सिग्नल में सेंसर लगे हैं। सेंसर से ही चौराहों पर भीड़ की निगरानी होगी। सिग्नल के लाल और हरा होने का समय तय है। चौराहे पर मार्ग के किसी हिस्से में वाहनों की भीड़ बढ़ने पर सिग्नल के लाल होने की अवधि स्वत: कम हो जाएगी। इससे चौराहों का मूवमेंट बढ़ जाएगा। अपर नगर आयुक्त रितु सुहास ने बताया कि कुम्भ से पहले 19 चौराहों पर अत्याधुनिक सिग्नल लग रहे हैं। सिग्नल का संचालन भी मेला व पुलिस लाइन में बने इंटीग्रेटेडे कंट्रोल एंड कमांड सेंटर से होगा। सेंटर से सिग्नल का समय घटाने और बढ़ाने की सुविधा होगी।

सिग्नल के साथ चौराहों पर नाइट विजन कैमरे

शहर के चौराहों पर अत्याधुनिक सिग्नल के साथ नाइट विजन कैमरे लग रहे हैं। इन कैमरों से रात में चौराहों से आवागमन करने वाले वाहनों का मॉडल, रंग और नंबर देखा जा सकेगा। ये कैमरे भी इंटीग्रेटेड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर से जुड़े हैं।

इन चौराहों पर लग रहे सिग्नल, कैमरे

धोबीघाट, फायर ब्रिगेड, जीटी जवाहर, हर्षवर्धन चौराहा, बाल्मीकि चौराहा, बांगड़ धर्मशाला, बैरहना, महाराणा प्रताप चौराहा, धूमनगंज थाना, यायायात चौराहा, लेप्रोसी मिशन, बालसन, लोक सेवा आयोग, मजार चौराहा, आयकर भवन चौराहा, विश्वविद्यालय चौराहा, जानसेनगंज चौराहा, तेलियरगंज व अन्य एक चौराहा।

पांच सौ कूड़ा गाड़ी जुडेंगी

नगर निगम की पांच सौ कूड़ा गाड़ियों की इंटीग्रेटेड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर निगरानी करेगी। नगर निगम की कूड़ा गाड़ियों को जीपीएस से लैस किया जा रहा है। जीपीएस लगने के बाद कूड़ा गाड़ियों के पल-पल का लोकेशन सेंटर में मिलेगा। यह व्यवस्था शहर की सफाई सुधारने के लिए किया जा रहा है।

कुम्भ के लिए जारी होगा यूनिक नंबर

मेला क्षेत्र व पुलिस लाइन में शुरू हुए इंटीग्रेटेड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर कुम्भ में आने वाले श्रद्धालुओं की मदद करेगा। श्रद्धालुओं की मदद के लिए कंट्रोल रूम में कॉल सेंटर बनाया गया है। इसमें 3० लोग श्रद्धालुओं की मदद करेंगे। श्रद्धालुओं की मदद के लिए एक चार अंकों का यूनीक नंबर जारी किया जाएगा। यूनीक नंबर पर कॉल कर कंट्रोल रूम से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here